बक्षीजी की गर्जना!

जवान का खून हैअस्सी में भी जूनून है ,रणभूमि से कोसो दूरहर साथी के शहादत से ,वे आज भी लहू – लुहान है .. तू क्या सिखाएगा इन्हे युद्ध ,तू क्या सिखाएगा इन्हे युद्ध ,उतनी तेरी औकात नहीं है !

पप्पू तुझे मोदी पे भरोसा नहीं क्या ?

पप्पू तुझे मोदी पे भरोसा नहीं क्या ?पप्पू के पास है आलूहार से बेहाल , और बेकाबू माँ की ममता में ये पागलबहना ने भेजे दो टायर जुमले में छा गए बादल ,लोधी बंगले को तू खली कर … पप्पू तुझे मोदी पे भरोसा नहीं क्या ?पप्पू के पास है MoU ,आत्मनिर्भर में ‘rape इनContinue reading “पप्पू तुझे मोदी पे भरोसा नहीं क्या ?”

Create your website at WordPress.com
Get started